राजस्थांनी सबदकोस

6 comments

  • हिंगलाज दान लालस, भाटेलाई

    बहुत आदर जोग कार्य।मायङ भाषा री सेवा मे महताऊ डिजिटाइजेशन करण वाली आपरी पूरी टीम ने घणा रंग।

  • SHAMBHU DAN

    साहित तणी संभाल़ कर,
    सकव बढावै शान।
    महि पर करै मनोजसी,
    मीसण काम महान।।
    मायड़ भाषा रै मुदे,
    भुज अपणै लै भार।
    सबदकोश री सार लै,
    प्रगट करै प्रचार।।
    ✍️शंभूदान बारहठ कजोई
    मनोज सा आपनै घणा रंग अर लखदाद हुकम।आप समाज अर साहित्य रै वास्तै महनीय कारज कर रैया हो हुकम।

  • राजेन्द्र सिंह चारण

    मनोज मिश्रण साहब आप ओर आपकी टीम ने जो काम किया है, वो राजस्थानी साहित्य के। इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा ।
    सीताराम जी लालस के इस भगीरथ प्रयास को दुनिया के सामने लाना ही , उनको सच्ची श्रंद्धाजलि है।

    • आभार हुकम। आप सभी के साथ और माँ भगवती के आशीर्वाद से ही सब संभव हो रहा है हुकम।

Leave a Reply to sabadadmin Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *